Wednesday, July 24, 2024
HomeCrime‘कमाने गया था, अर्थी पर लौटा…’

‘कमाने गया था, अर्थी पर लौटा…’

गोंडा के युवक की रूस में हत्या का मामला सामने आया है। 28 साल के युवक की निर्ममता से हत्या की गई। हत्या का आरोप उसकी कंपनी के मालिक पर है। मालिक युवक पर ओवरटाइम के लिए दबाव दे रहा था। युवक ने मना किया तो उसने जान ले ली। शव भारत लाया जा चुका है।

उत्तर प्रदेश के गोंडा के रहने वाले युवक की रूस में हत्या का मामला सामने आया है। 28 साल के युवक को उसकी कंपनी के मालिक ने मौत के घाट उतार दिया। मालिक युवक को ओवरटाइम करने के लिए मजबूर कर रहा था। युवक ने मना किया तो उसने निर्ममता से गला काटकर हत्या कर दी। आरोप है कि युवक के साथ मारपीट की जाती थी। उसे खाना भी भरपेट नहीं दिया जाता था। युवक मूल रूप से वजीरगंज थाना इलाके के अंतर्गत आते गांव चडौवा का रहने वाला था। कंपनी के मलिक ने धारदार हथियार से गला काटकर वारदात को अंजाम दिया।

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री के हस्तक्षेप के बाद मृतक का शव देर रात गोंडा पहुंचा। पैतृक गांव में मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया गया। मृतक युवक पिछले साल 6 दिसंबर को रूस गया था। गोंडा जिले के रहने वाले भारतीय एजेंट के माध्यम से उसको रूस का वर्क परमिट मिला था।

16 घंटे करवाया जा रहा था काम
बताया जा रहा है कि कंपनी के मालिक ने 9 घंटे का एग्रीमेंट किया था। लेकिन उससे 16-16 घंटे काम लिया जा रहा था। ओवरटाइम कम करने का विरोध करने पर युवक के साथ मारपीट भी की जा रही थी। साथ ही युवक को भरपेट खाना भी नहीं दिया जा रहा था। ओवरटाइम का विरोध करने पर 2 जून को मालिक द्वारा निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। मृतक के पिता ने कंपनी मालिक पर आरोप लगाया है। मृतक युवक के पिता ने बीते 11 जून को विदेश राज्य मंत्री और गोंडा के सांसद कीर्तिवर्धन सिंह को पत्र लिखकर न्याय की मांग की थी। पिता ने उनसे शव जल्द भारत लाए जाने की गुहार भी लगाई थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments